राष्ट्रीयसाहित्यहरियाणा

पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने अपने कार्यालय पर मनाई नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती।

पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने अपने कार्यालय पर मनाई नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती।

आपको बता दें आज पूरे देश मे हर जगह भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ओर कार्यकर्ताओ के साथ साथ सभी देश भक्तो द्वारा वीर योद्धा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती धूम धाम से मनाई जा रही है। हरियाणा प्रदेश मे माननीय मुख्यमंत्री ओर प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ के नेतृत्व मे बूथ स्तर पर हर वार्ड ओर गांव में कार्यक्रमों का आयोजन पूरे प्रदेश मे किया गया। इसी कड़ी मे आज पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने भी अपने कार्यालय पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती सभी कार्यकर्ताओ के साथ मिलकर मनाई ओर जय हिंद बोस का नारा दिया।

इस मोके पर पूर्व उद्योग मंत्री द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मूर्ति पर माल्यार्पण करके दीप जलाया ओर पुष्प अर्पित कर भारत माता की जय के नारो से कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम मे वक्ता रहे राजकुमार राज व मनीष राघव एडवोकेट ने नेताजी के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए सभी को आजादी की लड़ाई का व्रतांत सुनाया। कार्यक्रम की शुरुआत वन्दे मातरम के गीत से हुई, जिसपर सभी ने खड़े होकर नेताजी को श्रद्धांजली दी।

इस मोके पर पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कार्यकर्ताओ के सम्बोधित करते हुए देश की आजादी की लड़ाई ओर भारत माता की रक्षा मे शहीद हुए सभी वीर सपूत जवानों को नमन किया ओर  कहा की आज बहुत ही ऐतिहासिक दिन है क्योंकि आज देश के यशस्वी प्रधानमंत्री अपने करकमलो से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की कांसे की मूर्ति का अनावरण इंडिया गेट दिल्ली मे कर रहे है जो हमेशा देश की आने वाली पीढ़ियों को हमारे स्वतंत्रता सेनानियों की याद दिलाएगा।
विपुल गोयल ने कहा की नेताजी सुभाष चंद्र बोस् ने आजादी के लिए अपना सम्पूर्ण जीवन् का त्याग करके देश की आजादी के लिए 21 अक्टूबर 1943 को आजाद हिंद सरकार की स्थापना की और आजाद हिंद फौज का गठन किया ओर उस समय के दौरान मे 3 लाख से ज्यादा लोगो को अंग्रेजी हुकूमत् के खिलाफ अपनी फौज मे शामिल किया ओर नारा दिया की तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा।

विपुल गोयल ने कहा की भारतीय जनता पार्टी की सरकार देश के गौरवशाली इतिहास के गौरव गान का सामाजिक ओर राजनीतिक उत्थान करने का काम कर रही है ओर देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी  के नेतृृत्व मे भारतीय जनता पार्टी की सरकार राष्ट्रीय महत्व के स्मारकों का निर्माण करवा रही है ओर गौरव के नए-नए स्थल बन रहे है, तीर्थ स्थानों को भव्यता प्रदान करने का काम किया जा रहा है। पूर्व उद्योग मंत्री ने बताया की बीजेपी सरकार ने दिल्ली में बाबा साहेब स्मारक और रामेश्वरम में एपीजी अब्दुल कलाम स्मारक बनाया। उसी तरह नेताजी सुभाष चंद्र बोस और श्यामजी कृष्ण वर्मा से जुड़े स्थलों को भी भव्यता प्रदान की गई है। आदिवासी समाज का गौरवपूर्ण इतिहास को सामने लाने के लिए पूरे देश में आदिवासी संग्रहालय भी बनाए जा रहे हैं लोगो को सम्बोधित करते हुए विपुल गोयल ने कहा की देश के पहले गृहमंत्री रहे सरदार पटेल ओर अन्य सेनानियों ने देश को एक सूत्र में पिरोने ओर आदर्श भारत का जो सपना देखा था उसी सपने को आज भारतीय जनता पार्टी का प्रत्येक सिपाही सार्थक् करने मे लगा हुआ है।
आपको बता दें लोह पुरुष के नाम से विख्यात सरदार वल्ल्भ भाई पटेल की 138वीं जयंती पर स्टेच्यू ऑफ यूनिटी नाम से स्थापित उनकी मूर्ति का साल 2018 में प्रधानमंत्री के रूप में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही अनावरण किया था। विपुल गोयल ने कहा की शहीदों के नाम के स्मारक बनाना, उनकी जयंती और शहीदी दिवस को मनाना और उनके नाम पर आयोजन करना बेहद जरूरी है क्योंकि देश को आगे बढ़ाना है तो युवा पीढ़ी में ये एहसास बनाए रखना जरूरी है कि हमारे लिए शहीदों ने कितनी कुर्बानियां दी हैं कितने त्याग किये है। अंत मे पूर्व मंत्री ने अपने सम्बोधन में नेताजी की जयंती को इतने बड़े स्तर पर सम्मानित तरीके से मनाने पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री ओर प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ के धन्यवाद के साथ मौजूद कार्यकर्ताओ का अभिनंदन किया।

इस मौके पर मनीष राघव, राज कुमार राज, पंडित मुकेश शास्त्री, सुरेंद्र बबली, बशीर अहमद, कुलदीप सिंघल, प्रवीण चौधरी, बाबू खान, संजीव ठाकुर, कपिल पाराशर, विनोद हरी नगर, जगबीर पहलवान, कमल सैनी, नज़र मोहमद, सुभाष भगत, हाजी इरफ़ान, इंद्रपाल शर्मा, सुनील नरवाल व अन्य गणमान्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!