उत्तराखंडतेज खबरें

राष्ट्र की मजबूती के लिए हिंदी को राष्ट्रभाषा घोषित करना परम आवश्यक – कौशल गुप्ता 

इलम सिंह चौहान विकासनगर

 

विकासनगर 14 सितंबर 2022 को हिंदी दिवस पर सैल्यूट तिरंगा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष कौशल गुप्ता ने प्रधानमंत्री को एक ज्ञापन भेजकर कहा की हिंदी भाषा अभिव्यक्ति की भाषा है हिंदी सिर्फ भाषा ही नहीं संस्कृति भी है हिंदी भाषा हमे ममता , प्रेम , करुणा और प्यार करना सिखाती है। हिंदी एकता की जान है, शान है देश का सम्मान है। सृजन एवं अभिव्यक्त की दृष्टि से हिंदी दुनिया की अग्रणी भाषाओं में से एक है। आज हिंदी भाषा का अस्तित्व खतरे में नज़र आ रहा है कड़वा है पर यह भी सच है कि देश में देश की मूल भाषा हिंदी की जगह अंग्रेजी भाषा को महत्व दिया जा रहा है। हिंदी आज भी हमारी राष्ट्रभाषा नहीं है बल्कि राजभाषा है। हिंदी पूरे राष्ट्र को एक सूत्र में बांधने में सक्षम है। कौशल गुप्ता ने कहा की हमें यदि हिंदी भाषा को संजोए रखना है तो इसके प्रचार-प्रसार को बढ़ाना होगा। लोग आज भी दिनचर्या में हिंदी भाषा का प्रयोग नहीं कर रहे है जो देशहित में नहीं है। हम सभी भाषाएँ सीखे अच्छी बात है लेकिन हमे मातृभाषा को अधिक प्यार करना चाहिए। हम जिस प्रकार अपने बच्चो को अंग्रेजी पढ़ाने पर जोर देते है उसी प्रकार हिंदी पढ़ाने पर भी जोर देना चाहिए। सरकारी व् निजी कंपनियों की नौकरियों में केंद्र सरकार को हिंदी को प्रमुखता दिलानी चाहिए। इससे हर विद्यार्थी स्कूली स्तर से ही हिंदी के प्रति गंभीर रहेगा। उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया की हिंदी को यथोचित सम्मान प्रदान करते हुए 50 करोड़ से अधिक भारतीयों की मातृभाषा हिंदी को राष्ट्र की मजबूती के लिए राष्ट्रभाषा घोषित किया जाना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close